ये समये

थोड़ा अपने थोड़ा अपनों के साथ
बिताने का समये.
कुछ खुद से कुछ दोस्तों से उलझ
जाने का समये
घर में बेठे नए और पुराने
शौक़ आज़माने का समये

पुरानी किताबों से धूल हटाने का समये
अलमारी के पीछे छुपी उन तस्वीरों
के संग कुछ पल बिताने का समये
बाहर की दुनिया से परे
अंदर की दुनिया में खो जाने का समये

हालात पर ना रोने का, बलकी
हर पल में जी जाने का समये
दीया है क़ुदरत ने जबरन ही सही
ये है एक जुट संभल जाने का समये

Soul connection

Our eyes met

And we saw our soul

You saw deep inside me

I saw you whole

Not a word was said

And yet a story was told

There was no touch

Yet a strong hold

 

That burn on my skin

From the fire in your eyes

No questions and no doubts

Beyond the truth and the Lies

 

Past had no meaning

Future didn’t get a thought

A moment is all it seemed, 

and yet in it; a lifetime was caught

Blog at WordPress.com.

Up ↑